मेरी पसन्द

Shoyab Khatik

मेरी पसन्द
(12)
वाचक संख्या − 62
वाचा

सारांश

दोस्तों मुझे ये पसन्द है, मुझे यहा घूमना पसन्द है, मुझे यहा जाना पसन्द है। ऐसा हर इंसान अपनी अपनी पसन्द बताता है और अपनी पसन्द दुसरो पे भी लादता है जब की दूसरे इंसान को वो पसन्द नही होता है। यही एक ...

टिप्पण्या

एक टिप्पणी लिहा
मराठी लेखक
छान आपण प्रत्येकाच्या आवडीनिवडी जपल्या पाहिजे
प्रत्युत्तर
शहला अंस।री
अपनी पसंद किसी पर ना लादे,,,, ये ही सही है।
प्रत्युत्तर
मंजुबाला
जिंदगी संघर्ष है चलता रहता हे किस्सा पसन्द नापसन्द किस्सागोई का
प्रत्युत्तर
Sadaf Sania
नहीं अभी तक तो ऐसा नहीं हुआ है
प्रत्युत्तर
Dave jaya dave
अछी है..
प्रत्युत्तर
Aashuu 💐
There's no any reasons for would like.. Whether they are themselves or some one else....
प्रत्युत्तर
jyoti pedamkar
हम तो दुसरों की पसंद अपनी माननेवालो में से है....
प्रत्युत्तर
Aditi Tandon
अपनी पसंद बताना सही है पर किसी पर लादना गलत है और हम ऐसा नहीं करते 👌👌👌
प्रत्युत्तर
ज्ञानेश्वरी
wa khupch chan
प्रत्युत्तर
M
M
फारच सुंदर रचना आहे अभी तक तो ऐसा नही हूआ👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻👍👍👍👍
प्रत्युत्तर
सर्व टिप्पण्या पहा
marathi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया वर अनुसरण करा
     

आमच्या विषयी
आमच्यासोबत काम करा
गोपनीयता धोरण
सेवा अटी
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.