सोच

Shoyab Khatik

सोच
(13)
वाचक संख्या − 35
वाचा

सारांश

सोच सोच कर दिमाग खराब होता है कुछ लोग जादा सोचते है तो कुछ सोचते ही नही है। मेरे पास बहोत से लोग आते है की भाई ये बात हो गयी मै क्या करू , मेरा रिलेशन अच्छा नही चल रहा क्या करू ये सभी अपनी अपनी ...

टिप्पण्या

एक टिप्पणी लिहा
Yogita Garg
😊👍
प्रत्युत्तर
Dave jaya dave
सही बात 🇮🇳🇮🇳
प्रत्युत्तर
Soni Jadhav
एकदम सही।
प्रत्युत्तर
Poonam Kaparwan
nice sir g 👍 👍 👍
प्रत्युत्तर
Sandip Patil
सही बात
प्रत्युत्तर
चैतन्य
strongly bro👍😊
प्रत्युत्तर
mathapati rushikesh
nice .... don't write very shortly .... take your time and publish it... keep it up... all the best ...
प्रत्युत्तर
jyoti pedamkar
सही बात कहीं
प्रत्युत्तर
Shobhna Goyal
सही बात है
प्रत्युत्तर
marathi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया वर अनुसरण करा
     

आमच्या विषयी
आमच्यासोबत काम करा
गोपनीयता धोरण
सेवा अटी
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.