Sucheta K
प्रकाशित साहित्य
8
वाचक संख्या
126,439
आवड संख्या
0

चरित्र  

प्रतिलिपि सोबत:    

सारांश:

कभी कभी हम "दिल" के "हालात" भी "लिखते" हैं... हर वक़्त "वाह वाह' की "ख्वाहिश" नहीं होती........


उर्मी

6,042 अनुयायी

Kumud Makode

0 अनुयायी

Smita Gaikwad

1 अनुयायी

gajanan

3 अनुयायी
marathi@pratilipi.com
080 41710149
सोशल मीडिया वर अनुसरण करा
     

आमच्या विषयी
आमच्यासोबत काम करा
गोपनीयता धोरण
सेवा अटी
© 2017 Nasadiya Tech. Pvt. Ltd.